September 24, 2021

दिल्ली सरकार ने इस बार पद्म पुरस्कारों के लिए जनता से मांगा नाम, पूछा- कोविड काल में किसने ज्यादा की लोगों की सेवा

दिल्ली सरकार ने इस बार पद्म पुरस्कारों के लिए जनता से मांगा नाम, पूछा- कोविड काल में किसने ज्यादा की लोगों की सेवा

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने इस बार पद्म पुरस्कारों के लिए जनता से मांगा नाम

दिल्ली सरकार ने इस बार पद्म पुरुस्कारों के लिए जनता से नाम मांगे हैं. दिल्ली सीएम केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस बार पद्म पुरस्कारों के लिए उन डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के नाम भेजे जाएं, जिन्होंने जनता की ज्यादा सेवा की है. वहीं इस बाबत सीएम अरविंद केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन भी किया है.

गौरतलब है कि द‍िल्‍ली सरकार ने पद्म पुरुस्कारों के ल‍िए इस बार डॉक्‍टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के नाम केन्‍द्र सरकार को भेजने का फैसला किया है. वहीं इसके लिए एक ईमेल भी जारी किया है. इस ईमेल एड्रेस (Padma [email protected]) पर कोई भी व्यक्ति किसी भी डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी का नाम और आखिर इन्हें यह अवार्ड क्यों मिलना चाहिए उसके बारे में जानकारी भेज सकता है.

एक प्रेस कॉफ्रेंस में सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पद्म भूषण, पद्म विभूषण और पद्मश्री पुरस्कार के लिए केंद्र सरकार जनता से भी नाम लेती है और राज्य सरकारों से भी नाम लिए जाते हैं. दिल्ली सरकार ने निर्णय लिया है कि इस वर्ष हम सिर्फ डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के नाम भेजेंगे.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एक कमेटी का गठन किया गया है, जिसके अध्यक्ष मनीष सिसोदिया हैं. इस कमेटी में जनता के द्वारा भेजे गए नामों पर चर्चा की जाएगी. जबकि 15 सितम्बर केंद्र को नाम भेजने की अंतिम तिथि है. हम चाहते हैं कि 15 अगस्त तक सभी नाम आ जाएं.

पद्म पुरुस्कारों की चयन प्रक्रियाः
पद्म पुरस्कार भारत के नागरिक सम्मान होते हैं. पद्म पुरस्कारों की घोषणा प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस पर की जाती है. सन् 1954 में पद्म पुरस्कार प्रारम्भ किए गए थे.
ये पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों जैसे कला, सामाज सेवा, लोक कार्य, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग, व्यापार एवं उद्योग, चिकित्सा, साहित्य, शिक्षा, खेल-कूद और नागरिक सेवाओं में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को प्रदान किए जाते हैं.

यह सम्मान भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किए जाते हैं. इसके अंतर्गत तीन श्रेणियों में पुरुष्कार प्रदान किए जाते हैं.

पद्म विभूषण: यह पद्म श्रेणी का सर्वश्रेष्ठ पुरुष्कार है. यह असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए प्रदान किया जाता है.

पद्म भूषण: पद्म श्रेणी का यह दूसरा पुरुष्कार है, जो उत्कृष्ट कोटि की विशिष्ट सेवा देने के लिए प्रदान किया जाता है.

पद्म श्री: पद्म श्रेणी का यह तीसरा पुरुष्कार है, जो किसी भी श्रेत्र में विशिष्ट सेवा के फलस्वरूप प्रदान किया जाता है.

पद्म पुरुष्कारों से सम्मानित करने के लिए पहले शख्सियतों का चयन किया जाता है. इसके लिए नामों का चयन करने के लिए प्रधानमंत्री प्रत्येक वर्ष एक समिति का गठन करते हैं. इस समिति के पास पद्म पुरुस्कारों के लिए लोगों के नाम की सिफारिश आती है. यह सिफारिश राज्य सरकार, संघ राज्य प्रशासन, केंद्रीय मंत्रालय के साथ-साथ उत्कृष्टता संस्थानों आदि से प्राप्त की जाती है.

इसके बाद एक तय समय के पश्चात समिति उन नामों पर विचार करती है. इसके बाद पुरुस्कार समिति लोगों की कार्यकुशलता को देखते हुए उनके नाम की सिफारिश करती है, जिसपर प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और राष्ट्रपति इस पर अपना अनुमोदन देते हैं. उसके बाद गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर इस सम्मान से सम्मानित शख्सियतों के नाम की घोषणा की जाती है.

– The Political Mantra Team