उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जेपी नड्डा को पत्र लिखकर की इस्तीफ़े की

Big Breaking: उत्तराखंड की सियासत में बड़ी हलचल…

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जेपी नड्डा को पत्र लिखकर की इस्तीफ़े की पेशकश, उत्तराखंड में बदल सकता है सीएम का चेहरा.

वर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने संवैधानिक कारणों का हवाला देते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर अपना इस्तीफ़ा सौंपने की पेशकश की है.

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जेपी नड्डा को लिखे पत्र में कहा कि आर्टिकल 164-A के अनुसार उन्हें मुख्यमंत्री बनने के 6 महीने के अंदर विधानसभा का सदस्य बनना था, लेकिन जनप्रतिनिधि क़ानून की धारा 151 A के तहत अगर विधानसभा चुनाव में एक साल से कम का समय बचता है तो वहां पर उपचुनाव नहीं कराए जा सकते हैं.

उत्तराखंड में संवैधानिक संकट खड़ा न हो इसलिए मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देना चाहता हूं.

नए सीएम के तौर पर धन सिंह रावत और सतपाल महाराज समेत चार नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं. मुख्यमंत्री पद की रेस में रीतू खंडूरी और पुष्कर धामी का भी नाम आ रहा है.

जानकारी के मुताबिक इस वक्त किसी मौजूदा राज्य के विधायक को ही मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

वर्तमान विधानसभा के कार्यकाल में त्रिवेंद्र सिंह रावत लगभग 4 साल तक मुख्यमंत्री रहे लेकिन तीरथ सिंह रावत को अभी सिर्फ 4 महीने ही मुख्यमंत्री बने हुआ है और अब उन्हें इस्तीफा देना पड़ रहा है.

वर्तमान समय में वह पौड़ी विधानसभा सीट से सांसद हैं और मुख्यमंत्री बने रहने के लिए उन्हें विधानसभा का सदस्य बनना जरूरी है.