जानें इस बार किसे और कौन से पद्म पुरस्कार से किया गया सम्मानित… पूरी जानकारी

जानें इस बार किसे और कौन से पद्म पुरस्कार से किया गया सम्मानित… पूरी जानकारी…

2020 के लिए 119 हस्तियों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इनमें से 7 लोगों को पद्म विभूषण, 10 को पद्मभूषण और 102 को पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया। पद्म पुरस्कार देने का यह समारोह इस बार दो दिनों (8 और 9 नवंबर 2021) तक चला। बीते 9 नवंबर को साल 2021 के लिए 141 लोगों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।
पद्म पुरस्कारों की घोषणा हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर 25 जनवरी को की जाती है और इसे अप्रैल माह में दिए जाते हैं पर कोरोना महामारी के कारण 2020 और 2021 के पुरस्कार तय समय पर नहीं दिए जा सके थे। इसलिए 2020 और 2021 दोनों वर्ष के पद्म विजेताओं को एक साथ सम्मानित किया गया।
वहीं, वर्ष 2021 के लिए राष्ट्रपति ने 141 पद्म पुरस्कारों का अनुमोदन किया, जिसमें सात पद्म विभूषण, 16 पद्म भूषण और 118 पद्म श्री शामिल रह।
इस बार 33 महिलाओं को पद्म पुरस्कार मिले हैं, जिसमें 18 विदेशी, एनआरआई, पीआईओ, ओसीआई श्रेणी से हैं, जबकि 12 पुरस्कार मरणोपरांत दिए गए हैं।
पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, सुषमा स्वराज और जॉर्ज फ़र्नाडिस को परणोपरांत पद्म विभूषण दिया गया। बॉक्सिंग खिलाड़ी एमसी मेरी कॉम, शास्त्रीय गायक पंडित छन्नूलाल मिश्रा को भी देश के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान से नवाज़ा गया।
वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोहर पर्रिकर (मरणोपरांत), बैडमिंटन खिलाड़ी पी.वी. सिंधु, उद्योगपति आनंद महिंद्रा और वेणु श्रीनिवासन को पद्म भूषण दिया गया। इनके अलावा नगालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री एस.सी. जमीर और जम्मू-कश्मीर के नेता मुज़फ्फर हुसैन बेग को भी पद्म भूषण से नवाज़ा गया है।
वहीं, अभिनेत्री कंगना रनौट, फ़िल्म निर्माता एकता कपूर, करण जौहर, गायक सुरेश वाडकर और अदनान सामी पद्म श्री की 118 लोगों वाली नाम की सूची में शामिल रहे।
चिकित्सा क्षेत्र में सेवा के लिए एयर मार्शल पद्मा बंदोपाध्याय को पद्मश्री से सम्मानित किया गया।
लोकप्रिय हिंदुस्तानी शास्त्रीय गायक पंडित छन्नूलाल मिश्रा को पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
आईसीएमआर के पूर्व हेड साइंटिस्ट डॉक्टर रमन गंगाखेडकर को पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया। कोरोना महामारी के दौरान डॉक्टर गंगाखेडकर लगातार प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लोगों को अहम जानकारियां मुहैया कराते रहे।
भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया। रानी की कप्तानी में महिला टीम ने इस बार ओलिंपिक में जबरदस्त प्रदर्शन किया था।
इनके अलावा नौकरी डॉट कॉम (naukari.com) के संस्थापक संजीव बिकचंदानी, उद्योगपति भारत गोएंका, टेक्नोक्रेट नेमनाथ और गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह जैन (मरणोपरांत) को पद्म श्री से नवाजा गया।
वहीं, भोपाल गैस त्रासदी के एक्टिविस्ट अब्दुल जब्बार को मरणोपरांत पद्मश्री से सम्मानित किया जाएगा। इनके अलावा सामाजिक कार्यकर्ता जगदीश लाल आहूजा, मोहम्मद शरीफ़, तुलसी गौड़ा, मुन्ना मास्टर का नाम भी इस सूची में शामिल है। जगदीश लाल आहूजा चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल के बाहर मरीजों को मुफ़्त में ख़ाना खिलाते हैं। फैज़ाबाद से मोहम्मद शरीफ़ ने 25 हज़ार लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार किया था। हाथियों के डॉक्टर असम के कुशाल कुंअर शर्मा को भी पद्म श्री दिया गया है।

पद्म पुरस्कार 2021 से जुड़े मुख्य बिन्दु
इस बार विभिन्न क्षेत्रों के 119 लोगों को पद्म पुरस्कार प्रदान किए गए, जिसमें 7 पद्म विभूषण, 10 पद्म भूषण और 102 पद्मश्री पुरस्कार हैं।
वर्ष 2021 के पद्म पुरस्कारों में 29 महिलाएं शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, इन पुरस्कारों में विदेशी श्रेणी(यथा- एनआरआई, पीआईओ और ओसीआई) में 10 लोगों को शामिल किया गया है।
वहीं 16 लोगों को मरणोपरांत पद्म पुरस्कार देने की घोषणा की गई है। जबकि एक व्यक्ति को ट्रांसजेंडर की श्रेणी में पद्म पुरस्कार दिया जाएगा।
वर्ष 2021 के पद्म पुरस्कारों में जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे, सिंगर एस पी बालासुब्रमण्यम (मरणोपरांत), तरुण गोगोई (मरणोपरांत), राम विलास पासवान (मरणोपरांत) और सुमित्रा महाजन जैसे नाम शामिल हैं।
पद्म विभूषण पाने वाले व्यक्ति
जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे (पब्लिक अफेयर्स)
एस पी बालासुब्रमण्यम (मरणोपरांत)- कला
सुदर्शन साहू( कला)
बी बी लाल (पुरातत्व)
मौलाना वहीद्दुीन खान (अध्यात्मवाद)
डॉक्टर मोनप्पा हेगडे(मेडिसिन)
नरिंदर सिंह कपानी (विज्ञान और इंजीनियरिंग)
पद्म भूषण पाने वाले व्यक्ति
असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई (पब्लिक अफेयर्स)
पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन (पब्लिक अफेयर्स)
नृपेंद्र मिश्रा (सिविल सेवा)
पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (मरणोपरांत)- पब्लिक अफेयर्स
धर्मगुरु कब्ले सादिक (मरणोपरांत) – अध्यात्मवाद
कृष्णन नायर शांतकुमारी (कला)
चंद्रशेखर कंबरा (साहित्य एंव शिक्षा)
केशुभाई पटेल (मरणोपरांत)- पब्लिक अफेयर्स
रजनीकांत देवीदास (व्यापार और उद्योग)
तरलोचन सिंह (पब्लिक अफेयर्स)
पद्म पुरस्कार (Padma Award)
देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों, पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री में प्रदान किया जाता है।
ये पुरस्कार विभिन्न विषयों/गतिविधियों के क्षेत्रों, अर्थात- कला, सामाजिक कार्य, सार्वजनिक मामले, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग, व्यापार एवं उद्योग, चिकित्सा, साहित्य, शिक्षा, खेल, नागरिक सेवा आदि में प्रदान किए जाते हैं।
‘पद्म विभूषण’ असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए, ‘पद्म भूषण’ उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा के लिए और ‘पद्मश्री’ किसी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के लिए प्रदान किए जाते हैं।
1954 में स्थापित किए गए इन पुरस्कारों की घोषणा प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर की जाती है।
राष्‍ट्रपति द्वारा ये पुरस्कार राष्ट्रपति भवन में आमतौर पर हर साल मार्च/अप्रैल के आसपास आयोजित एक समारोह में प्रदान किए जाते हैं।
पद्म पुरस्कार मरणोपरांत भी प्रदान किए जाते हैं। इसके अतिरिक्त, ये पुरस्कार विदेशियों को भी प्रदान किए जाते हैं।
पद्म पुरस्कार (पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री) देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में शामिल हैं। पद्म विभूषण और पद्म भूषण भारत रत्न के बाद देश के क्रमश: दूसरे और तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान हैं।