September 25, 2021

Tokyo Olympic: 17 दिन, 205 देश, 33 खेल, 339 इवेंट्स और 11 हजार से अधिक एथलीट, जानिए शुरू से अंत तक का सफ़र

टोक्यो ओलंपिक का हुआ समापन

Tokyo Olympic: 23 जुलाई को शुरू हुए खेलों के महाकुंभ यानी टोक्यो ओलंपिक खेलों का 8 जुलाई यानी आज रंगारंग कार्यक्रम के साथ समापन हो गया। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के अध्यक्ष थॉमस बाक ने टोक्यो में 32वें ओलंपिक खेलों के समापन की घोषणा की।

दुनियाभर के खिलाड़ी अब तीन साल बाद 2024 में फ्रांस की राजधानी पेरिस में जुटेंगे। टोक्यो ओलंपिक के समापन समारोह की शुरुआत आतिशबाजी के साथ हुई। पूरे ओलंपिक स्टेडियम को दुल्हन की तरह सजाया गया। क्लोजिंग सेरिमनी में भारत के 10 भारतीय एथलीटों और अधिकारियों ने हिस्सा लिया। रेसलर बजरंग पुनिया ने भारतीय दल की अगुवाई की। वह क्लोजिंग सेरेमनी के दौरान हाथों में तिरंगा लेकर चलते दिखे।

Tokyo olympic
टोक्यो ओलंपिक के समापन की तस्वीर

खेलों के इस महाकुंभ में 205 देश, 33 खेल, 339 इवेंट्स और 11 हजार से अधिक एथलीट हिस्सा लिए।
इस ओलंपिक में भारत का अबतक का ये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा।
इस ओलंपिक में भारत ने 1 गोल्ड, 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज समेत 7 मेडल जीतकर 48वें स्थान पर रहा।
इससे पहले भारत ने 2012 लंदन ओलंपिक में कुल 6 मेडल अपने नाम किए थे। भारत की ओर से भाला फेंक में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड, वेटलिफ्टर मीराबाई चानू और रेसलर रवि कुमार दहिया ने सिल्वर मेडल दिलाया। वहीं शटलर पीवी सिंधु, रेसलर बजरंग पूनिया, बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन और पुरुष हॉकी टीम ने कांस्य पदक जीते।

ये भी पढ़ें: भारत के लाल नीरज ने भाले से देश को दिलाया स्वर्ण पदक, क्या आप जानते हैं नीरज के असल जिंदगी की कहानी..

वहीं इस ओलंपिक में अमेरिका ने 39 गोल्ड, 41 सिल्वर और 33 ब्रॉन्ज समेत कुल 113 मेडल अपने नाम किए, जबकि चाइना ने 28 स्वर्ण, 32 रजत और 18 कांस्य सहित कुल 88 पदक हासिल किए। वहीं जापान के खाते में 58 मेडल आए, जिसमें 27 गोल्ड, 14 सिल्वर और 17 ब्रॉन्ज शामिल हैं।

Tokyo Olympic
टोक्यो ओलंपिक के समापन समारोह का दृश्य

खेलों के महाकुंभ में भाग लेने के लिए इस बार भारत की तरफ से सबसे बड़ा दल (128) टोक्यो पहुंचा था, जिन्होंने कुल 18 स्पोर्ट्स इवेंट में हिस्सा लिया। सभी खिलाड़ियों ने अपना बेस्ट दिया लेकिन कुछ पदक तक पहुंचने से चूक गए लेकिन कुछ ने बाजी मारी और देश को गौरवान्वित किया।

इस ओलंपिक के अंतिम अध्याय की शुरुआत आतिशबाजी से हुई। कोविड-19 महामारी के बीच आयोजित हुए 32वें ओलंपिक खेल समापन समारोह के साथ समाप्त हुए, जिसमें आगे बढ़ने का संदेश दिया गया। समापन समारोह एक वीडियो के साथ शुरू हुआ, जिसमें 17 दिन की स्पर्धाओं का सार था।

खेलों का यह उत्सव हम सभी के लिए है और यह इस बात को प्रमाणित करता है कि उम्मीद की एक किरण हमेशा जिंदा रहती है। यह ओलंपिक खेल दूसरों से बिल्कुल अलग रहा। कोरोना महामारी के इस दौर के बीच हमने जो महसूस किया वो शायद ही हमने पहले कभी किया था। मगर हमने साथ में मिलकर इसे साकार कर दिखाया।

पीएम मोदी ने जापान सरकार को दिया धन्यवाद-

पीएम मोदी ने जापान सरकार का जाताया आभार (सोशल मीडिया)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलंपिक की सही सलामत मेजबानी के लिए जापान सरकार को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ‘भारतीय दल द्वारा जीते गए पदकों ने देश को गौरवान्वित किया है और इसी तरह नई प्रतिभाओं की पहचान के लिए जमीनी स्तर पर खेलों को और लोकप्रिय बनाने के लिए काम करते रहने का समय आ गया है।’